Bawaal Review: वरुण धवन- जान्हवी कपूर की अनोखी लेकिन खूबसूरत लव स्टोरी, मस्ट वॉच है फिल्म

bawaal-movie-review-varun-dhawan-janhvi-kapoor-unique-but-beautiful-love-story-a-must-watch-film

निर्देशक- नितेश तिवारी
कलाकार- वरुण धवन, जान्हवी कपूर, मनोज पाहवा, अंजुमन सक्सेना, मुकेश तिवारी
प्लेटफॉर्म- अमेज़न प्राइम वीडियो

“एक हम हैं, सिर पर कोई तलवार नहीं लटक रही है, फिर भी खुश नहीं हैं.. क्योंकि हम जिंदगी जीना ही भूल गए..” यूरोप में सफर के दौरान निशा अपने पति अज्जु उर्फ अजय से कहती है। एम्स्टर्डम में ऐन फ्रैंक की कहानी सुनकर दोनों दुखी हैं और कहीं ना कहीं अपनी जिंदगी में झांककर देखने की हिम्मत करते हैं। नितेश तिवारी रिश्तों में उपजने वाली भावनाओं की बारीकियों को दिखाने में माहिर हैं। दंगल हो या छिछोरे, निर्देशक ने रिश्तों को बहुत बेहतरीन तरीके से पर्दे पर उतारा है। और यही झलक हम यहां भी देखते हैं। फिल्म जिंदगी में आई छोटी छोटी खुशियों को अपनाने के बारे में हैं।

bawaal-movie-review-varun-dhawan-janhvi-kapoor-unique-but-beautiful-love-story-a-must-watch-film

कहानी

अजय दीक्षित (वरुण धवन) के जानने वालों का कहना है कि “स्लेटी कबूतरों की भीड़ में मसक्कली हैं अज्जु भईया”। पूरे लखनऊ शहर में उनके कारनामों के चर्चे हैं। कैसे अज्जु भईया ने IAS का एक्जाम छोड़कर शिक्षक बनने की ठानी, कैसे स्वास्थ्य कारणों से आर्मी में भर्ती नहीं हो पाए, कैसे NASA वालों को ना कर दिया.. वैगेरह वैगेरह। अज्जु ने शहर भर में झूठ और दिखावे की ऐसी दीवार खड़ी कर दी थी कि हर कोई उन्हें महान समझने लगा था। लेकिन जिन्हें सच्चाई पता थी, उनसे अज्जु दो कोस दूर भागते थे, मां- बाप और पत्नी निशा (जान्हवी कपूर)। अजय और निशा के बीच रिश्ता होकर भी कोई रिश्ता नहीं है। बहरहाल, एक प्राइवेट स्कूल में इतिहास के शिक्षक रहे अजय एक बार ऐसी घटना में फंस जाते हैं कि वहां से निकलने के लिए उन्हें कुछ बड़ा प्लान करना पड़ता है। इस प्लान में उन्हें निशा का सहारा लेना पड़ता है और दोनों निकल पड़ते हैं यूरोप टूर के लिए। वो उन जगहों पर जाते हैं, जो द्वितीय विश्व युद्ध से जुड़ी होती है। लेकिन सफर के दौरान वो दुनिया में हुए वॉर के साथ साथ अपने अंदर चल रहे वॉर को भी महसूस करते हैं। लेकिन क्या अज्जु अपने अंहकार और स्वार्थ को छोड़कर, अपने रिश्ते को अपनाएगा? इसी के इर्द गिर्द घूमती है कहानी।

bawaal-movie-review-varun-dhawan-janhvi-kapoor-unique-but-beautiful-love-story-a-must-watch-film

निर्देशन व तकनीकी पक्ष

“बवाल” की राइटिंग इतनी बेहतरीन है कि फिल्म सीधे आपके दिल को छूती है। इसकी कहानी लिखी है अश्विनी अय्यर तिवारी ने, और उन्होंने बहुत ही संजीदगी के साथ एक कपल के बीच की कश्मकश को दिखाया है। बवाल जैसी फिल्म को ढ़ाई घंटों तक प्रभावी बनाए रखने की बहुत बड़ी जिम्मेदारी लेखक पर होती है। इस मामले में नितेश तिवारी ने अच्छा काम किया है। उन्होंने फिल्म के संवाद को बहुत मजबूत रखा है, चाहे वह पति- पत्नी के बीच का हो, या मां- बेटी या सास- ससुर के साथ। एक दृश्य में निशा की मां उससे कहती है- “जिस दिन लगेगा ना कि अब नहीं निभा, लौट आना बेटा, कोई कुछ नहीं कहेगा, डिवोर्स कोई हौआ नहीं है बेटा”.. ये सीन मां- बेटी के रिश्ते के विश्वास को इतनी खूबसूरती से दिखाती है कि आपकी आंख भर जाती हैं। फिल्म में ऐसे छोटे छोटे कई लम्हे हैं। फिल्म में कहीं भी ओवर- द-टॉप ड्रामा नहीं है।

फर्स्ट हॉफ में फिल्म इमोशनल स्तर पर थोड़ी ऊपर- नीचे जाती है, लेकिन सेकेंड हॉफ में बेहद मजबूत है। वर्ल्ड वॉर 2 और खासकर हिटलर से लव स्टोरी के कनेक्शन को लेकर कई सवाल उठ रहे थे, लेकिन यहां बात सिर्फ लव स्टोरी की नहीं, बल्कि अपने दिल के अंदर चल रही लड़ाई की है, जिससे हम हर दिन जूझते हैं। चारू श्री रॉय का संपादन काफी चुस्त है, जो अंत तक फिल्म को बांधकर रखता है। फिल्म के कुछ दृश्य भावुक करते हैं, जबकि कुछ बेहतरीन कॉमिक रिलीफ भी हैं।

bawaal-movie-review-varun-dhawan-janhvi-kapoor-unique-but-beautiful-love-story-a-must-watch-film

अभिनय

इस फिल्म के पॉजिटिव पक्षों में है परफॉर्मेंस। लखनई में रह रहा अजय दीक्षित एक साधारण लड़का है, जिसे हमेशा अपनी बनी बनाई इज्जत के खोने का डर लगा रहता है। या यूं कह लें कि उसे जिंदगी में औसत बने रहने से डर लगता है। एक स्वार्थी पति और बेटे के साथ साथ, एक अयोग्य शिक्षक के किरदार में वरुण धवन ने अपना बेस्ट दिया है। निर्देशक ने उनके किरदार में काफी इमोशनल उतार- चढ़ाव दिये हैं और वरुण हर भाव से जुड़ते नजर आए हैं। वह एक दृश्य में आत्म विश्वास से भरपूर दिखते हैं, तो दूसरे में डरते भी हैं, एक पल में भावुक होते हैं, तो दूसरे में गुस्सा और अहंकार भी दिखाते हैं। वहीं, हर जगह वरुण का बराबर साथ दिया है जान्हवी कपूर ने। भावुक दृश्यों पर जान्हवी की अच्छी पकड़ है। सबसे अच्छी बात है कि दोनों कलाकार अपने किरदारों में काफी सहज दिखे हैं। दोनों की केमिस्ट्री अच्छी है, जो कहानी को बांधकर रखने में पूरी मदद देती है। सहायक किरदारों में मनोज पाहवा, अंजुमन सक्सेना, मुकेश तिवारी समेत सभी कलाकार बेहतरीन हैं।

रेटिंग

इस वीकेंड यदि ओटीटी पर कुछ बेहतरीन देखने की इच्छा रखते हैं, तो वरुण धवन- जान्हवी कपूर अभिनीत बवाल जरूर देंखे। नितेश तिवारी की ये फिल्म पूरी फैमिली साथ बैठकर देख सकते हैं। “बवाल” को फिल्मीबीट की ओर से 3.5 रेटिंग। फिल्म अमेज़न प्राइम वीडियो पर स्ट्रीमिंग के लिए उपलब्ध है।

English summary

Varun Dhawan and Janhvi Kapoor’s starrer romantic drama Bawaal is streaming on Amazon Prime Video from 21st July. This is a unique but beautiful love story, a must watch film by Nitesh Tiwari.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »