भारत ने रचा ‘स्वर्णिम इतिहास’! चंद्रयान-3 की सफल लॉन्चिंग, बोले PM मोदी- ये ऐतिहासिक पल, यहां देखें Live

CHANDRAYAAN

नई दिल्ली. आखिरकार चंद्रयान-3 (Chandrayaan 3) के जरिए इसरो अपने अधूरे मिशन को पूरा करने की ओर कदम बढ़ा चूका है। अब से कुछ देर पहले भारत ने अपने इस अति महत्वपूर्ण मून मिशन को लॉन्च कर दिया है और पूरी दुनिया ISRO की ओर गर्व से देख रही है।

चंद्रयान-3 की सफल लॉन्चिंग

जी हां अब से कुछ देर पहले चंद्रयान-3 की लॉन्चिंग हो चुकी है।अगर भारत अपने इस मिशन में फतेह करता है तो वह अमेरिका, चीन और रूस के बाद चौथा देश बन जाएगा। वहीं ISRO के वैज्ञानिकों ने 23-24 अगस्त को चांद की सतह पर सॉफ्ट लैंडिंग की योजना बनाई है, जिससे भारत इस उपलब्धि को हासिल करने वाले देशों की फेहरिस्त में शामिल हो जाएगा। अभी तक अमेरिका, रूस और चीन ही ऐसा कर पाए हैं।

PM मोदी ने दी शुभकामनाएं

आज इस लॉन्चिंग के पहले देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चंद्रयान-3 मिशन के लिए इसरो को शुभकामनाएं दी थी। तब PM मोदी ने कहा था कि, 14 जुलाई को भारत के इतिहास में सुनहरे अक्षरों में लिखा जाएगा। मैं चंद्रयान-3 मिशन के लिए सभी को शुभकामनाएं देता हूं, आप सभी को इसके बारे में और ज्यादा जानना चाहिए।

जानें चंद्रयान-3 के बारे में और क्या है ये मिशन 

जानकारी दें कि, इस मिशन को LVM-3 के जरिए आज लॉन्च किया गया है, जिसका कुल वजन 640 टन है। इस रॉकेट की कुल हाइट 43।43 मीटर है, चंद्रयान-3 का लैंडर 1749 किग्रा और रोवर 26 किग्रा का है। वहीं विक्रम लैंडर मिशन की कुल लाइफ 1 लूनर डे यानी 14 दिन है, जबकि प्रज्ञान रोवर की लाइफ भी इतनी ही है। इस लैंडर का काम चांद के दक्षिणी हिस्से पर सॉफ्ट लैंडिंग कराना है और ‘रोवर’ प्रज्ञान का काम चांद पर मौजूद पानी, खनिज को पता लगाना है।

ये भी जानकारी दें की भारत का तीसरा मून मिशन है, साल 2019 में जो चंद्रयान-2 लॉन्च किया गया था वह तब चांद पर जरुरी सॉफ्ट लैंडिंग नहीं कर पाया था और तब यह मिशन आखिरी वक्त पर असफल हुआ था। ल्व्किन अब भारत चंद्रयान-3 के जरिए अपने अधूरे काम और सपने को पूरा करने की कोशिश में है। आशा है कि, आज की इस सफल उड़ान के बाद चंद्रयान-3 अगस्त महीने में सकुशल चांद तक पहुंच पाएगा।

इन जैसी अधिक खबरें पढ़ने अख्बार365 पर लोग ऑन करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »