छत्तीसगढ़: IAS रानू साहू को ED ने मनी लॉन्ड्रिंग मामले में गिरफ्तार, विशेष अदालत में करेगी पेश

छत्तीसगढ़ की अफसर IAS रानू साहू को ED ने मनी लॉन्ड्रिंग मामले में गिरफ्तार

Pic Source: Twitter

रायपुर: प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने छत्तीसगढ़ में धन शोधन के एक मामले में भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) की अधिकारी रानू साहू को शनिवार को गिरफ्तार कर लिया। ईडी के अधिवक्ता सौरभ पांडेय ने बताया कि साहू को अदालत में पेश किया गया है और जांच एजेंसी ने उनकी 14 दिन की हिरासत की मांग की है। मामले में सुनवाई जारी है। छत्तीसगढ़-कैडर की 2010 बैच की आईएएस अधिकारी साहू वर्तमान में राज्य कृषि विभाग में निदेशक के रूप में तैनात हैं। इससे पहले, वह कोयला समृद्ध कोरबा और रायगढ़ जिले में कलेक्टर के रूप में सेवाएं दे चुकी हैं।     

ईडी के सूत्रों के मुताबिक, जांच एजेंसी ने शुक्रवार को साहू के रायपुर स्थित आवास पर छापेमारी की थी।  सूत्रों ने बताया कि ईडी ने कथित कोयला लेवी घोटाला मामले की जांच के तहत पहले भी साहू से जुड़े परिसरों की तलाशी ली थी और उनकी संपत्ति जब्त की थी। केंद्रीय एजेंसी ने आयकर विभाग की एक शिकायत का संज्ञान लेने के बाद कथित घोटाले से जुड़े धन शोधन मामले की जांच शुरू की थी। ईडी ने अपनी जांच के तहत पिछले साल अक्टूबर में राज्य के कई शहरों में छापेमारी की थी। इसके बाद जांच एजेंसी ने आईएएस अधिकारी समीर विश्नोई, कोयला व्यापारी सूर्यकांत तिवारी, उनके चाचा लक्ष्मीकांत तिवारी और एक अन्य कोयला व्यवसायी सुनील अग्रवाल को गिरफ्तार कर लिया था। 

बाद में ईडी ने राज्य की शक्तिशाली नौकरशाह मानी जाने वाली और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के कार्यालय में पदस्थ उपसचिव सौम्या चौरसिया को भी गिरफ्तार किया था। समीर विश्नोई के बाद साहू राज्य में पदस्थ भारतीय प्रशासनिक सेवा की दूसरी अधिकारी हैं, जिन्हें केंद्रीय एजेंसी ने गिरफ्तार किया है।  प्रवर्तन निदेशालय ने राज्य में कथित कोयला लेवी घोटाले से जुड़े धन शोधन मामले में पिछले साल दिसंबर में रायपुर की विशेष अदालत में एक अभियोजन परिवाद पेश किया था।  ईडी ने परिवाद में जिक्र किया है कि वरिष्ठ अधिकारियों, व्यापारियों, राजनेताओं और बिचौलियों से जुड़े एक गिरोह द्वारा राज्य में कोयला परिवहन के लिए 25 रुपये प्रति टन के हिसाब से अवैध उगाही की जा रही थी। 

इसके अलावा, ईडी राज्य में कथित शराब घोटाले की भी जांच कर रही है, जिसमें कांग्रेस नेता और रायपुर के महापौर एजाज ढेबर के भाई अनवर ढेबर, छत्तीसगढ़ राज्य विपणन निगम लिमिटेड (सीएसएमसीएल) के प्रबंध निदेशक अरुणपति त्रिपाठी, शराब कारोबारी त्रिलोक सिंह ढिल्लन, होटल कारोबारी नितेश पुरोहित और अरविंद सिंह को गिरफ्तार किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »