एक AI Chatbot एआई चैटबॉट काम कैसे करता है?

आधुनिक चैटबॉट अब सिर्फ ग्राहक सहायता कार्यक्रम का भाग नहीं रहे, बल्कि उस से अधिक हो गए हैं। मशीन लर्निंग और प्राकृतिक भाषा प्रसंस्करण – कृत्रिम बुद्धिमत्ता के क्षेत्र के दो उपक्ष – में शक्तिशाली अविष्कारों के कारण, दुनिया भर में लोग चैटबॉट का उपयोग करके अनेक समस्याओं का समाधान कर रहे हैं और नई सुविधाओं का उपयोग कर रहे हैं। आगे पढ़ें और चैटबॉट काम करने के बारे में और अधिक जानें।

चैटबॉट क्या होता है?

चैटबॉट एक कंप्यूटर प्रोग्राम होता है जिसमें वेबसाइट पर एक पॉपअप बॉक्स से लेकर ओपनएआई के प्राकृतिक भाषा प्रसंस्करण उपकरण ChatGPT तक सब कुछ शामिल हो सकता है। चैटबॉट मानवीय संवाद की प्रतिक्रिया करने के लिए डिज़ाइन किया जाता है ताकि उपयोगकर्ता इसे एक और व्यक्ति की तरह, पाठ या ऑडियो के माध्यम से, संबंधित उपकरण के साथ आपसी क्रियान्वयन कर सके। सवाल पूछे जाने पर या एक अनुरोध दिये जाने पर, चैटबॉट उपलब्ध जानकारी का उपयोग करके प्रतिक्रिया करेगा, जो कई से कई अधिक सीमित हो सकती है।

सभी चैटबॉट एआई चैटबॉट नहीं होते हैं। एआई चैटबॉट्स की मुख्यता उपयोगकर्ता के संदेशों को समझने और उनका संदर्भ प्रदान करने की क्षमता होती है। यह उपयोगकर्ताओं के प्रश्नों का उत्तर देता है, सूचना प्रदान करता है, विभिन्न कार्यों को सम्पादित करता है, और अन्य तरह की सेवाएं प्रदान करता है। इन चैटबॉट्स को आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) तकनीकों का उपयोग करके और डेटा से सीखकर प्रशिक्षित किया जाता है।

चैटबॉट के कितने प्रकार होते हैं?

चैटबॉट कई प्रकार के हो सकते हैं जो उनके कार्यक्षमता और डिज़ाइन पर आधारित होते हैं। यहां कुछ सामान्य प्रकार के चैटबॉट हैं:

1. नियमाधारित चैटबॉट: ये चैटबॉट उपयोगकर्ता के इनपुट में निर्दिष्ट नियमों या स्क्रिप्टों का पालन करते हैं और उत्तर प्रदान करते हैं। वे विशेष कीवर्ड या पैटर्न के आधार पर प्रतिक्रिया करने के लिए डिज़ाइन किए जाते हैं। नियमाधारित चैटबॉट सरल होते हैं और मूलभूत कार्यों को संभाल सकते हैं, लेकिन उनमें जटिल प्रश्नों को समझने या प्राकृतिक वार्तालाप में संलग्न होने की क्षमता की कमी होती है।

2. AI-संचालित चैटबॉट: ये चैटबॉट AI और प्राकृतिक भाषा संसाधन (NLP) तकनीकों का उपयोग करके उपयोगकर्ता के इनपुट को समझने और प्रतिक्रिया करने के लिए बनाए जाते हैं। वे प्रासंगिकता का विश्लेषण कर सकते हैं, अर्थ को व्याख्या कर सकते हैं और संबंधित प्रतिक्रियाएं प्रदान कर सकते हैं। AI-संचालित चैटबॉट जटिल प्रश्नों को संभाल सकते हैं और प्राकृतिक वार्तालाप में संलग्न हो सकते हैं।

3. वर्चुअल असिस्टेंट: वर्चुअल असिस्टेंट उन्नत चैटबॉट होते हैं जो AI, NLP और मशीन लर्निंग का उपयोग करके व्यक्तिगत और इंटरैक्टिव अनुभव प्रदान करते हैं। वे सवालों का उत्तर देने, सिफारिशें प्रदान करने, अपॉइंटमेंट की अनुसूची तैयार करने और विभिन्न ऑनलाइन कार्यों को करने की क्षमता रखते हैं। Siri, Google Assistant और Amazon Alexa उदाहरण हैं।

4. वार्तालापी चैटबॉट: ये चैटबॉट मानवीय वार्तालाप में संलग्न होने के लिए डिज़ाइन किए जाते हैं। वे प्रासंगिकता को समझ सकते हैं, वार्तालाप के कई टर्न पर संदर्भ बनाए रख सकते हैं और गतिशील प्रतिक्रियाएं प्रदान कर सकते हैं। वार्तालापी चैटबॉट एक अधिक प्राकृतिक और इंटरैक्टिव उपयोगकर्ता अनुभव प्रदान करने का उद्देश्य रखते हैं।

5. संचालनात्मक चैटबॉट: ये चैटबॉट विशेष रूप से संचार और ग्राहक सहायता से संबंधित कार्यों को संभालने के लिए डिज़ाई जीविका करते हैं। वे उपयोगकर्ताओं को खरीदारी करने में मदद कर सकते हैं, आदेशों का ट्रैक कर सकते हैं, उत्पाद सिफारिशें प्रदान कर सकते हैं, और सामान्य ग्राहक के प्रश्नों को हल कर सकते हैं।

6. सामाजिक चैटबॉट: सामाजिक चैटबॉट सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर उपयोगकर्ताओं के साथ संवाद करने के लिए डिज़ाइन किए जाते हैं। वे आम सवालों का उत्तर दे सकते हैं, जानकारी प्रदान कर सकते हैं और उपयोगकर्ताओं के साथ संवाद में शामिल हो सकते हैं। व्यापारों द्वारा इन चैटबॉट का उपयोग ग्राहक आकर्षण और सेवा सहायता की सुविधा को सुधारने के लिए किया जाता है, जैसे Facebook Messenger या Twitter पर।

7. आवाज-सक्रिय चैटबॉट: ये चैटबॉट टेक्स्ट इनपुट के बजाय उपयोगकर्ताओं के आवाज कमांड के माध्यम से संवाद करने के लिए डिज़ाइन किए जाते हैं। वे बोले गए भाषा को समझने और उसका प्रतिक्रिया देने के लिए वाणिज्य संज्ञान तकनीक का उपयोग करते हैं। आवाज-सक्रिय चैटबॉट आमतौर पर Amazon Alexa, Google Assistant या Apple Siri जैसे आवाज सहायकों में उपयोग होते हैं।

ये श्रेणियां एक-दूसरे से अलग नहीं होती हैं और कई चैटबॉट इनमें से कई प्रकार की विशेषताएं मिला सकती हैं। इन श्रेणियों का वर्गीकरण चैटबॉट के डिज़ाइन में उपयोग की गई उद्देश्य, क्षमताएं और अंतर्निहित तकनीक पर निर्भर करता है।

ai chatbot

एक AI चैटबॉट कैसे काम करता है? 

एक AI चैटबॉट एक कंप्यूटर प्रोग्राम होता है जो आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) तकनीक का उपयोग करके उपयोगकर्ता के संदेशों को समझता है और जवाब देता है। इसके लिए निम्नलिखित प्रमुख चरण होते हैं:

1. नवीनतम एआई तकनीकों का उपयोग: AI चैटबॉट में उपयोगकर्ता के संदेशों को समझने और संदेशों का प्रतिक्रिया देने के लिए नवीनतम AI तकनीकों का उपयोग किया जाता है। ये तकनीक NLP (Natural Language Processing), Machine Learning, और Deep Learning को शामिल करती हैं।

2. संदेश समझना: चैटबॉट को पहले उपयोगकर्ता के संदेश को समझना होता है। इसके लिए NLP तकनीकों का उपयोग किया जाता है जो वाक्य संरचना, शब्दावली, और अर्थ को समझने में मदद करती हैं।

3. संदेश का प्रतिक्रिया देना: जब चैटबॉट संदेश को समझ लेता है, तो वह उपयोगकर्ता के संदेश का उचित उत्तर तैयार करता है। यह उत्तर पहले से तैयार किए गए नियमों और स्क्रिप्टों के आधार पर हो सकता है, या फिर मशीन लर्निंग और नेटवर्क मॉडल के माध्यम से तैयार किया जा सकता है।

4. स्वयंसंचालित अद्यतन: AI चैटबॉट अपनी प्रदर्शन क्षमता को सुधारने के लिए स्वयंसंचालित रूप से सीखता रहता है। यह उपयोगकर्ताओं के संदेशों और उत्तरों के बीच संबंधों को अधिक समझने और बेहतर उत्तर प्रदान करने के लिए डेटा और फ़ीडबैक का उपयोग करता है।

इस तरह से, एक AI चैटबॉट उपयोगकर्ता से संदेश संवाद करके उपयोगकर्ता के प्रश्नों का उत्तर देता है और उन्हें सहायता प्रदान करता है। इसके लिए, चैटबॉट विभिन्न एआई तकनीकों का उपयोग करता है जो उपयोगकर्ता संदेशों को समझने, प्रतिक्रिया देने, और स्वयंसंचालित रूप से सीखने में मदद करती हैं।

चैटबॉट्स को कैसे प्रशिक्षित किया जाता है?

चैटबॉट्स को प्रशिक्षित करने के लिए एक तार्किक प्रक्रिया और डेटा प्रशिक्षण की आवश्यकता होती है। निम्नलिखित कदमों के माध्यम से चैटबॉट को प्रशिक्षित किया जाता है:

1. डेटा संग्रह: चैटबॉट को प्रशिक्षित करने के लिए, पहले उपयोगकर्ताओं के संदेश और उत्तरों का डेटा संग्रह किया जाता है। यह डेटा चैटबॉट को विभिन्न प्रश्नों और प्रतिक्रियाओं की समझ प्रदान करने में मदद करता है।

2. डेटा प्रसंस्करण: संग्रहित डेटा को प्रसंस्कृत करके, इसे स्ट्रक्चर के रूप में प्रशिक्षण के लिए तैयार किया जाता है। इसमें टोकनाइजेशन (tokenization), स्टॉप वर्ड को हटाना, और वाक्य संरचना का विश्लेषण शामिल होता है।

3. मॉडल प्रशिक्षण: प्रसंस्कृत डेटा का उपयोग करके, एक AI मॉडल को प्रशिक्षित किया जाता है। यह मॉडल विभिन्न एल्गोरिदम, जैसे कि रिकर्सिव न्यूरल नेटवर्क (RNN) या ट्रांसफॉर्मर (Transformer) का उपयोग करके विकसित किया जाता है। मॉडल को संदेश-संदेश प्रतिक्रिया प्रदान करके और यूजर-चैटबॉट संवाद के साथ प्रशिक्षित किया जाता है।

4. मॉडल की परीक्षा और सुधार: प्रशिक्षित मॉडल की परीक्षा करके उसे सुधारा जाता है। यह मॉडल को संदेशों को समझने, उचित उत्तर प्रदान करने और संवाद में संदर्भ साधने की क्षमता में सुधार करने में मदद करता है।

चैटबॉट्स को प्रशिक्षित करने के लिए यह प्रक्रिया बारंबार दोहराई जाती है ताकि मॉडल सुधारें और उपयोगकर्ता के संदेशों के साथ और बेहतर तरीके से संवाद कर सके।

क्या चैटबॉट्स प्राकृतिक भाषा संसाधन (Natural Language Processing, NLP) का उपयोग करते हैं?

हाँ, चैटबॉट्स में प्राकृतिक भाषा संसाधन (Natural Language Processing, NLP) का उपयोग किया जाता है। NLP एक एकाई उपयोगकर्ता इंटरफ़ेस (User Interface) तकनीक है जो कंप्यूटर को मानवीय भाषा को समझने और इसका प्रतिक्रिया देने की क्षमता प्रदान करती है। चैटबॉट्स NLP का उपयोग करके उपयोगकर्ता के संदेशों को समझते हैं, उनके भाषाई अर्थ को व्याख्या करते हैं, और उचित उत्तर प्रदान करते हैं। यह तकनीक चैटबॉट्स को संदेशों की व्याख्या करने, संदेशों का संग्रह करने, और उपयोगकर्ताओं के साथ प्राकृतिक संवाद करने में मदद करती है।

मशीन लर्निंग चैटबॉट्स में कैसे उपयोग किया जाता है?

मशीन लर्निंग चैटबॉट्स को प्रशिक्षित करने के लिए एक महत्वपूर्ण तकनीक है। यह चैटबॉट्स को डेटा से सीखने और उपयोगकर्ताओं के संदेशों का समझने और उत्तर देने की क्षमता को विकसित करने में मदद करता है। मशीन लर्निंग के उपयोग से चैटबॉट्स निम्नलिखित तरीकों से फायदा उठाते हैं:

1. संदेश की विभाजन: मशीन लर्निंग का उपयोग करके, चैटबॉट्स को उपयोगकर्ताओं के संदेशों को विभाजित करना सिखाया जाता है। यह विभाजन संदेश को विभिन्न श्रेणियों में गठित करके संदेशों की समझ को सुधारता है।

2. मॉडल का प्रशिक्षण: चैटबॉट को मशीन लर्निंग मॉडल के माध्यम से प्रशिक्षित किया जाता है। यह मॉडल डेटा को विश्लेषण करके विभिन्न पैटर्न और संदेशों के साथ संबंधों को समझने की क्षमता प्राप्त करता है।

3. स्वयंसंचालित सीखना: मशीन लर्निंग चैटबॉट्स खुद से सीखने की क्षमता विकसित करते हैं। जैसे-जैसे चैटबॉट्स अधिक डेटा संग्रह करते हैं और अधिक संदेशों का प्रशिक्षण प्राप्त करते हैं, वे स्वयं अद्यतित होते हैं और उत्तरों की गुणवत्ता को सुधारते हैं।

4. उत्पादकता के साथ संवाद: मशीन लर्निंग चैटबॉट्स उपयोगकर्ताओं के संदेशों का प्रतिक्रिया देने के लिए प्रशिक्षित किए जाते हैं, जिससे वे उपयोगकर्ताओं के साथ संवाद में प्रभावी रूप से लगते हैं।

इस प्रकार, मशीन लर्निंग चैटबॉट्स को संदेशों को समझने, उत्तर देने और संवाद में संदर्भ साधने में मदद मिलती है। इस तकनीक का उपयोग करके चैटबॉट्स अद्यतित होते हैं और बेहतर सेवा प्रदान करने की क्षमता विकसित करते हैं।

इन जैसी अधिक खबरें / लेख पढ़ने अख्बार365 पर लोग ऑन करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »